what is a vpn ? | VPN क्या है ओर उसके कितने प्रकार है ?|

परिचय :-

इस लेख में हमने VPN क्या हे ? , VPN को Establish कैसे करते हैं और VPN के Types कितने हे उसके बारेमे बताया हैं | आप इस लेख को पढके knowledge ले शकते हैं |

 

what is a VPN ? (Virtual Private Network का परिचय) :-

VPN (Virtual Private Network) को एक उदहारण (Example) के माध्यम से समज ते हैं | किसी कंपनी की दो शाखाए (Branch) हैं ,उसमे से एक शाखा (Branch) Delhi में हे और दुशरी शाखा Mumbai में हैं | हमें इन दोनों Branch के बिच एक Network बनाना हैं | इस प्रकार का जो network बनता हे उसे हम प्राइवेट नेटवर्क के नाम से जान शकते हे, क्यूंकि ये नेटवर्क सिर्फ वह कंपनी तक ही सिमित रहेगा |

 

इस प्रकार के network स्थापित (Establish) करने के हमें तीन विकल्प मिलते हैं |

(1) दोनों शाखाओ को वायर के माध्यम से जोड़ना |

(2) दोनों शाखाओ को उपग्रह (Planet) की मदद से जोड़ना |

(3) दोनों शाखाओ को Internet के माध्यम से जोड़ना |

Ms outlook के बारेमे जानने के लिए यहाँ क्लिक करे |

ऊपर बताये गए विकल्पों मेसे पहला और दूशरा विकल्प बहुत ही महंगा हैं | जब के तीसरा विकल्प बहुत ही उचित और आशान हैं |

 

Virtual Private Network में किसी भी संस्था या फिर कंपनी के विभिन्न network को internet के माध्यम  से जोड़ा जाता हैं | ये एक प्रकार का प्राइवेट network होने के कारन इस network का इस्तेमाल कंपनी या फिर संस्था के अलावा कोई ओर नहीं कर शकता |

 

VPN में किसी भी संस्था या फिर कंपनियो की BRANCH के बिच जानकारी का संचार (Communication) internet के माध्यम से होता हैं | VPN में डाटा की सुरक्षा काफी अहम् होती हे , क्यूंकि इसमें संस्था या फिर कंपनी का निजी (Private) डाटा का internet के द्वारा संचार होता हैं |

 

Virtual Private Network (VPN) में डाटा की सुरक्षा के लिए IPSEC जैसी टेक्नोलॉजी का प्रयोग किया जाता हैं | इस टेक्नोलॉजी में डाटा को Encrypt (पढ़ा न जा शके वैसा) करके internet पर भेजा जाता हे , जिससे की वह डाटा में कोनसी जानकारी हे वह पता नहीं लगता हैं | डाटा डेस्टिनेशन (Destination) पर पहुँच ने पर उस डाटा को  Decrypt (मूलरूप में बदलना) कर दिया जाता हैं |

 

वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क (VPN) स्थापित करने के लिए संस्था या कंपनी के द्वारा खास प्रकार के VPN Router का प्रयोग किया जाता हैं |

Top Browser के बारेमे जानने के लिए यहाँ क्लिक करे |

वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क के प्रकार :-

VPN (वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क) खास करके तीन परिस्थिति में प्रयोग किया जाता हैं | और उन परिस्थिति के आधार पर VPN के तीन प्रकार देखने को मिलते हैं |

(1) Virtual Private Dial-Up Network (VPDN) :- जब किसी कंपनी का Employe किसी दुसरे शहर से कंपनी का नेटवर्क यूज़ करना चाहे तो उसे VPDN नेटवर्क को उसे करना होगा |  कंपनी का एम्प्लोये खुद के कम्प्यूटर को इन्टरनेट के साथ जोडके कंपनी के नेटवर्क को login कर शकता हैं | इसके लिए Employe के कम्प्यूटर में VPN Client Server इनस्टॉल होना चाहिए |

(2) Internet Based VPN (इन्टरनेट आधारित ) :- जब किसी भी कंपनी के दो या दो से ज्यादा शाखाओ (Branches) के बिच VPN को स्थापित किया जाए तो उसे Site To Site VPN कहा जाता हैं | इस नेटवर्क में संस्था की एक LAN को संस्था की दुशरी LAN के साथ इन्टरनेट के माध्यम से जोड़ा जाता हैं |

 

(3) Interanet Based VPN (इन्टरानेट आधारित) :- जब विभिन्न संस्था या कंपनी के LAN को इन्टरनेट के माध्यम से जोड़ा जाए तो उसे Extranet Based VPN कहा जाता हैं | 

एक उदहारण (Example) से समजे तो किसी कंपनी के Customer और Supplier के network को internet के माध्यम से जोड़ना |


Conclusion :-


मुझे उम्मीद हैं की आपको मेरा यह लेख (what is a VPN And हाउ कैन Establish ?|) जरुर पसंद आया होगा .मेरी हमेशा से ही यही कोसिस रही हे की में अपने आर्टिकल में वह सारी जानकारी include करू जो  रीडर्स को चाहिए जिससे के उस आर्टिकल के सन्दर्भ में रीडर्स को  किसी दूसरी site या internet में उस आर्टिकल के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही न रहे | इससे रीडर्स के टाइम की बचत होगी और एक ही जगह पे उन्हें सभी इनफार्मेशन भी मिल जाये |यदि आपके मनमे इस आर्टिकल को लेकर कोई भी doubt हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार  होना चाहिए तो आप निचे Comments कर शकते हैं | यदि आपको यह पोस्ट पसंद आया या कुछ सिखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे के facebook,Twitter ,Instagram और pinterest  पर शेयर जरुर करे |

 

SHARE ON

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *