Section 194Q क्या है ? | Section 194Q कब और किस पर लागु होगी 2021? |

परिचय :-

Table of Contents

इस लेख में हमने section 194Q क्या हैं?, कब लागु होगी ओर किस Buyer पर लागु होगी इसके बारेमे विस्तार से बताया हैं | आप इस लेख को पढके section 194Q के बारेमे जानकारी ले शकते हैं | तो चलिए इसके बारेमे जानते हैं |

 

Section 194Q क्या है ?

section 194q

 

 

पिछले साल 01-10-2020 से TCS (Tax Collected At Source) धारा 206C (1H) से लागु किया गया था | जिसमे माल बेचनेवाले  (Saller) के द्वारा माल खरीदने वाले (Buyer) से माल का भुक्तान प्राप्त करते वक्त TCS की वसुलात (Deduct) करके सरकार में जमा करवाना होता हैं | But 

 

अब  TCS  से मिलते जुलते प्रावधान सरकार ने बजट में टीडीएस (TDS) Section 194Q  के संबंध में भी बनाये हैं l इस धारा (194Q) के अंतर्गत माल खरीदने वाला (Buyer) -माल बेचनेवाले (Saller) को भुक्तान करते समय भुक्तान का कुछ हिस्सा अपने पास रखके निर्धारित समय पे सरकार को जमा करवाएगा | 

 Section 194Q के सन्दर्भ में कई लोगो के मन में काफी प्रश्न उत्पन्न होगे जैसे के,

(1) धारा 194Q कब से लागु होगी ?

(२) ये धारा (194Q)  किस  पर लागु होगी ? और किस पर नहीं होगी ?

(३) TDS की धारा 194Q किस व्यव्हार (Transaction) पर लागु होगी ?

(४) ये धारा कितने रूपये तक के भुक्तान पर लागु नहीं होगी ?

(५) क्या ये धारा माल के Advance Payment पर भी लागु होगी ?

(६) अगर एक ही Transaction पर धारा 206C (1H) के तहत TCS और धारा 194Q के तहत TDS लगता है तो किस धारा का महत्व ज्यादा रहेगा ?

(७) इस धारा के अंतर्गत कितने प्रतिशत (%) TDS Deduct करना हैं ?

(८) वसूल (Deduct) की गई राशी सरकार में कब जमा करनी हैं |

(९) धारा 194Q लागु होने से पहले की खरीदी या भुक्तान के सन्दर्भ में क्या स्थिति रहेगी |

(१०) वसूल (Deduct) किये गए TDS को सरकार में देरसे (Late) जमा करने पर कितना ब्याज (Interest) लगेगा |

(११) TDS Returns के सन्दर्भ में क्या प्रावधान हैं ?

(१२) TDS Returns Late File करने पर क्या होगा ?

(१३) धारा 194Q 01 जुलाई 2021 से लागू होगी, तो 01 अप्रैल 2021 से 30 जून 2021 तक किये हुए  माल की  खरीद  और उसके भुगतान की  क्या  स्थिति  रहेगी ?  इत्यादि …………………………….

 

चलिए अब हम ऊपर दिए गए प्रश्नों के उत्तर के बारेमे विस्तार से चर्चा करते हैं | 

(१) Section 194Q कबसे लागु होगी ?

उत्तर :- धारा 194Q 01/07/2021 से लागु होगी |

(२) ये धारा (194Q) किस पर लागु होगी ?

उत्तर :- ये धारा उन सब पर लागु होगी जिनकी पिछले साल की Total Sale या Gross Receipt या टर्नओवर 10 Crore से ज्यादा हो |

Example के तौर पे आपका पिछले साल (2020-21) का Total Sale या Gross Receipt या टर्नओवर 10 Crore से ज्यादा है तो 01/07/2021 से आप पर ये धारा 194Q (TDS) लागु होगी |

 

(२.१) ये धारा किस पर लागु नहीं होगी ?

उत्तर :- यदि किसी का टर्नओवर या Gross Receipt या Total Sale 10 करोड़ से कम है तो उस पर ये धारा लागु नहीं होगी |

Exapmle से समजे तो  अगर आप का पिछले साल (2020-21) का Turnover 9.50 करोड़ है  तो 01/07/2021 से आप पर ये धारा लागु नहीं होगी | 

(३) TDS की धारा 194Q किस व्यव्हार (Transaction) पर लागु होगी ?

उत्तर :- ये धारा माल खरीदने (Goods Purchase के Against में Payment) के भुक्तान पर लागु होगी | 

 

(४) ये धारा कितने रूपये तक के भुक्तान पर लागु नहीं होगी ?

उत्तर :- यदि आप किसी को एक साल में माल के भुगतान के रूप में 50 लाख रुपये या उससे कम दे रहे हैं तो उस व्यव्हार पर ये धारा लागू नही होगी l यदि आप किसी को साल भर में माल के भुगतान के लिए 50 लाख रुपये से ज्यादा दे रहे हो तो उस Transaction पर ये धारा लागू होगी l

Example के तौर पे समजे तो :- 

(१) A पार्टी ने B पार्टी को माल के भुक्तान के रूप में एक साल में 48 लाख रूपये का भुगतान किया तो ये धारा पार्टी B पर लागू नहीं होगी |

(२) पार्टी A के द्वारा पार्टी B को माल के लिए भुक्तान के रूप में एक साल में 65 लाख रूपये का का भुगतान किया तो ये धारा पार्टी A पर लागू होगी और उसे पार्टी B के भुगतान में से टीडीएस काटकर (Deduct) सरकार को जमा करवाना होगा |

 

पहले 50 लाख के भुगतान पर टीडीएस काटने की जरुरत नही हैं क्यूंकि 50 लाख तक धारा 194Q (टीडीएस) लागु नहीं होगी |

इसलिए पार्टी A सिर्फ (65-50) =15 लाख पर ही टीडीएस काटके पार्टी B को Payment करेगी और Deduct की गई Amount निर्धारित समय पार्टी A के द्वारा सरकार में जमा करवानी होगी | 

(५) क्या ये धारा माल के Advance Payment पर भी लागु होगी ?

उत्तर :- हाँ | ये धारा 194Q माल का Payment Advance में किया गया हो तो भी लागु होगी |

 

(६) अगर एक ही Transaction पर Section 206C(1H) के तहत TCS और section 194Q के तहत TDS लगता है तो किस धारा का महत्व ज्यादा रहेगा ?

उत्तर :- यदि एक ही Transaction पर दोनों धाराएँ लागू होती हैं तो धारा 194Q (TDS) का महत्व ज्यादा रहेगा | मतलब ऐसी परिस्थति में खरीदनेवाला (buyer) बेचनेवाले (seller) के भुगतान में से टीडीएस काटेगा |

TCS के बारेमे जानने के लिए यहाँ क्लिक करे |

Example के तौर पे जाने तो :-

पार्टी A (Seller) के द्वारा पार्टी B (Buyer) को 60 लाख रुपये का माल बेचा गया | पार्टी A (Seller) का भी पिछले सालका Turnover 10 करोड़ से अधिक था और पार्टी B (Buyer) का भी l और माल की कीमत 50 लाख से अधिक हैं इसलिए इस Transaction पर धारा 194Q (TDS) और धारा 206C (1H) टीसीएस (TCS) दोनों के प्रावधान लागू होते हैं |

 

इस प्रस्थिति में पार्टी B (Buyer) पार्टी A (Seller) को टीडीएस (TDS) काटकर भुगतान करेगी और पार्टी A (Seller) इस Transaction पर टीसीएस (TCS) नहीं वसूलेगी l

(७) इस धारा के अंतर्गत कितने प्रतिशत (%) TDS Deduct करना हैं ?

उतर :-

किस सन्दर्भ मेंकितने प्रतिशत कटेगा (%)
यदि बेचनेवाले (seller) का पैन उपलब्ध हैं तो0.1 %
यदि बेचनेवाले (seller) का पैन उपलब्ध नहीं हैं तो5%

(८) वसूल (Deduct) की गई राशी सरकार में कब जमा करनी हैं ?

उत्तर  :- जिस महीने TDS काटा गया हैं उससे अगले महीने की ७ तारीख तक काटी गई राशी सरकार में जमा करवानी होगी | Example के तौर पे आप निचे दिखाए गए Table से समज शकते हैं |

जिस महीने में टीडीएस (TDS) काटा गयाचलान जमा करने की तारीख 
अप्रैल07 मई तक
मई07 जून तक
जून07 जुलाई तक
जुलाई07 अगस्त तक
अगस्त07 सितम्बर तक
सितम्बर07 अक्टूबर तक
अक्टूबर07 नवम्बर तक
नवम्बर07 दिसम्बर तक
दिसम्बर07 जनवरी तक
जनवरी07 फरवरी तक
फरवरी 07 मार्च तक  
मार्च 30 अप्रेल तक  

(९) Section 194Q लागु होने से पहले की खरीदी या भुक्तान के सन्दर्भ में क्या स्थिति रहेगी ?

उत्तर :- यदि आपने 50 लाख से अधिक का माल 01 अप्रैल 2021 से 30जून 2021 तक किसी एक व्यक्ति से खरीद लिया हैं और उसका भुगतान भी 30 जून 2021 तक कर दिया हैं तो आपको उस भुगतान पर टीडीएस नहीं काटना हैं | But

 

यदि आपने माल 01 अप्रैल 2021 से 30 जून 2021 के दौरान ख़रीदा हैं और उसका भुगतान 30 जून 2021 के बाद किया हैं तो आपको उस भुगतान में से टीडीएस काटना होगा |

माल खरीद की तिथि1 अप्रैल 20211 अप्रैल 2021
माल की कीमत60 लाख60 लाख
भुगतान की तिथि30 जून 20215 जुलाई 2021
टीडीएस काटना हैं या नहीं ?नहीहाँ
कारण

क्यूंकि खरीद और 

भुगतान दोनों 

की तिथि 01 जुलाई 2021

 के पहले की हैं l

क्यूंकि खरीद की तिथि 

01 जुलाई 2021 

के पहले की हैं और भुगतान की 

तिथि 01 जुलाई 2021 

के बाद की हैं l

टीडीएस0

60 – 50 = 10 लाख

10 लाख X 0.1% = 1000

(क्यूंकि पहले 50 लाख पर

 टीडीएस लागू नहीं होता हैं)

(१०) वसूल (Deduct)किये गए TDS को सरकार में देरसे (Late) जमा करने पर कितना ब्याज (Interest) लगेगा ?

उत्तर :-  अगर टीडीएस सरकार में जमा करने में देरी होती हैं तो हर महीने 1.5% के हिसाब से टीडीएस की राशि पर ब्याज (Interest) देना होगा |

 

(११) TDS Returns के सन्दर्भ में क्या प्रावधान हैं ?

उत्तर :-  टीडीएस के रिटर्न फाइल करने के लिए (फॉर्म 26Q) के द्वारा प्रत्येक तीन महीने पर (Quarterly) भरे जाते हैं | इसके बारेमे आप निचे दिखाए गए टेबल से समज शकते हैं |

अवधिरिटर्न भरने की तिथि
अप्रैल से जून31 जुलाई तक  
जुलाई से सितम्बर31 अक्टूबर तक
अक्टूबर से  दिसम्बर31 जनवरी तक
जनवरी से मार्च31 मई तक

(१२) TDS Returns Late File करने पर क्या होगा ?

उत्तर :-  TDS Return File करने में देरी होने पर 200 रूपया प्रति रोज लेट  फीस लगेगी |

 

कुछ  जरुरी सुचन :- (Some Important Instruction)

  • 50 लाख से ऊपर आप जितना भी पेमेन्ट करे उसका 0.1% TDS काटके पेमेन्ट करना हैं | 

 

  • माल की वापसी होने पर टीडीएस की वापसी नहीं होगी |

 

  • 01 जुलाई 2021 के पहले जो भुगतान कर दिया हैं उस पर टीडीएस नही लगेगा |

 

  • 50 लाख की सीमा 01 अप्रैल 2021 से ही गिनी जाएगी भले ही ये धारा 194Q 01जुलाई 2021से लागू हो रही हैं l

Disclaimer :- इस जानकारी के संग्रहण में पूरी सावधानी रखी गयी हैं, पर फिर भी किसी त्रुटी (Mistake) से इनकार नही किया जा सकता हैं l जानकारी में त्रुटी की परिस्थिति में लेखक की कोई जवाबदेही नही होगी | आप जानकारी का इस्तेमाल करते समय किसी पेशेवर से सलाह अवश्य ले |

Conclusion :-

मुझे उम्मीद हैं की आपको मेरा यह लेख (section 194Q क्या हैं ?|Section 194Q कब और किस पर लागु होगी ?|) जरुर पसंद आया होगा | हमारी  हमेशा से ही यही कोसिस रही हे की हम अपने आर्टिकल में वह सारी जानकारी include करू जो  रीडर्स को चाहिए जिससे के उस आर्टिकल के सन्दर्भ में रीडर्स को  किसी दूसरी site या internet में उस आर्टिकल के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही न रहे | इससे रीडर्स के टाइम की बचत होगी और एक ही जगह पे उन्हें सभी इनफार्मेशन भी मिल जाये | यदि आपके मनमे इस आर्टिकल को लेकर कोई भी doubt हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार  होना चाहिए तो आप निचे Comments कर शकते हैं | यदि आपको यह पोस्ट पसंद आया या कुछ सिखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे के facebook,Twitter, Instagram और  pinterest पर शेयर जरुर करे |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *